ख़बर शेयर करें -

बागेश्वर: कोई फर्क नहीं सब कुछ जीत लेने में, और अंत तक हिम्मत न हारने में, यह लाइने शशांक ने कही हैँ, बागेश्वर नंदी गांव के रहने वाले शशांक उपाध्याय ने NEET परीक्षा में 651 अंक हासिल कर अपने गांव का नाम रोशन किया है, शशांक अपने गांव से पहले एमबीबीएस डॉक्टर बनेंगे, इससे पहले शशांक उपाध्याय ने NEET 2022 में 558 अंक हासिल किए थे बावजूद इसके उन्होंने हार नहीं मानी और कड़ी मेहनत के बावजूद इस साल NEET परीक्षा में 651 अंक हासिल किये, शशांक के पिता उमाकांत उपाध्याय शिक्षक हैं और उनकी माता गृहणी हैं, शशांक ने अपनी सफलता का श्रेय अपने परिजनों को दिया है, उन्होंने कहा कि सभी परिजनों ने अपना पूर्ण सहयोग उनकी सफलता में दिया,उन्होंने कहा कि शिक्षित परिवार होने की वजह से उन्हें पूरा मार्गदर्शन मिला,

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी और लालकुआं में यहां लगेगी पटाखा की बाजार