ख़बर शेयर करें -

नैनीताल : DM नैनीताल ने कैम्प हल्द्वानी में मानसून सत्र में रकसिया, देवखड़ी एवम कलसिया नाले में जलभराव के कारण होने वाली समस्याओं के समाधान के संबंध में बैठक ली। बैठक लेते हुए डीएम ने एसडीएम, ईई सिंचाई, वन विभाग को संयुक्त रूप से रकसिया, कलसिया नाले, देवखड़ी और नंधौर नदी में इस बार के मानसून में होने वाली हानि की संभावना को देखते हुए स्थल चिन्हित करने के निर्देश दिए। जिससे तात्कालिक तौर पर उपचार कर बचाव किया जा सके। इसके लिए एक सप्ताह के भीतर सभी स्थलों के सफाई हेतु आकलन तैयार करते हुए तत्काल कार्य शुरू करने के निर्देश सिंचाई विभाग को दिए। बैठक में नगर निगम, सिंचाई, लोनिवि को अपने क्षेत्र की समस्त नालियों, कल्वर्ट, कौज वे की सफाई करने और समय से झाड़ी कटान के निर्देश दिए।

यह भी पढ़ें 👉  Uttarakhand: निकाय चुनावों से जुड़ी बड़ी खबर...

DM ने कहा की जनपद के रकसिया, कलसिया, देवखड़ी और नंधौर के आबादी स्थल में हर वर्ष मानसून काल में नुकसान को संभावना बनी रहती है। जिनके दीर्घकालीन समधान हेतु प्राक्कलन शासन स्तर पर भेजे गए हैं, वर्तमान में ऐसे कुछ अति आवश्यक प्रभावित स्थलों के लिए चिन्हीकरण कर तात्कालिक उपचार किया जाना आवश्यक है जिससे मानसून सत्र में आबादी को होने वाले प्रभाव को रोका जा सके। विभाग द्वारा तैयार आकलन के आधार पर एक सप्ताह के भीतर कार्य शुरू कर चिन्हित स्थानों पर मई माह में पूर्ण करने का लक्ष्य विभागों को दिया गया। इन क्षेत्रों में नाला सफाई का कार्य किया जाएगा जिससे पानी बीच से आसानी से प्रवाहित हो तथा कचरे को हटाकर अन्य मलबे को किनारे किया जायेगा।

यह भी पढ़ें 👉  मौसम अपडेट: इन जिलों में बारिश के आसार....