ख़बर शेयर करें -

उत्तराखंड राज्य अपनी संस्कृति और परंपरा के लिए जाना जाता है। ऐसे ही पारंपरिक त्योहारों में घी संक्रांति मनाई जाती है। घी संक्रांति को क्षेत्रीय भाषा में घी त्यार , घु त्यार , घु त्यार और ओलगिया भी कहा जाता है।।

यह भी पढ़ें 👉  घास काटने गयी महिला पर हमला कर उसे मौत के घाट उतार

मूल रूप से यह एक संक्रांति उत्सव है। जिसे खेती से जुड़े किसानों और पशुपालकों द्वारा उत्साहपूर्वक मनाया जाता है।
इस दिन गांव के घर की महिलाएं अपने बच्चों के सिर पर ताजा मक्खन मलती हैं। साथ ही उनकी लंबी उम्र की कामना करते हैं।

यह भी पढ़ें 👉  जिलाधिकारी वंदना ने हल्द्वानी काठगोदाम क्षेत्र में 14 जंक्शन पॉइंट्स को सुधारीकरण हेतु चिन्हित किए