ख़बर शेयर करें -

125 मंदिरों का समूह जागेश्वर धाम का मास्टर प्लान सीएम के ड्रीम प्रोजेक्ट में शामिल है। इसके विकास के लिए मास्टर प्लान तैयार कर इसे धरातल पर उतारने की कवायद तेज हो गई है।
जागेश्वर धाम जल्द ही आधुनिक लाइट से जगमगाएगा। इसके लिए इटली से लाइट मंगाई जाएंगी। पहले चरण में मास्टर प्लान के तहत धाम में लाइटिंग का काम होगा, जिसमें करीब 10 करोड़ रुपये खर्च होंगे। धाम के हर मंदिर को आधुनिक लाइट से सजाया जाएगा, जिसकी कवायद तेज हो गई है।
25 मंदिरों का समूह जागेश्वर धाम का मास्टर प्लान सीएम के ड्रीम प्रोजेक्ट में शामिल है। इसके विकास के लिए मास्टर प्लान तैयार कर इसे धरातल पर उतारने की कवायद तेज हो गई है। पहले चरण में यहां के मंदिरों में इलुमिनेशन (लाइटिंग) का कार्य होना है, जिसकी लागत 10 करोड़ प्रस्तावित है। इसकी खास बात यह है कि यहां के लिए इटली से लाइट आएंगी। हर मंदिर में लाइटिंग का कार्य होगा। मास्टर प्लान के तहत कई रंग बिखेरने वाली आधुनिक लाइट के लगने के बाद जागेश्वर धाम की छटा अद्भुत होगी और पूरा मंदिर समूह रंग-बिरंगी लाइट से जगमगा उठेगा।

यह भी पढ़ें 👉  हल्द्वानी: खाने में मिली शिकायत, DM ने लिया एक्शन ...

देवदारू वन भी जगमगाएगा
मास्टर प्लान के तहत मंदिर ही नहीं बल्कि इसके आसपास स्थित देवदार के घने जंगल को पहचान मिली है इसे भी जगमग करने की कवायद हो रही है। मास्टर प्लान के तहत मंदिर समिति के धर्मशाला के पास से इटली से आने वाली आधुनिक लाइट से जंगल को फोकस किया जाएगा। रात के समय परिसर के साथ ही देवदारू वन भी कई रंगों से रंगा नजर आएगा।
पीएम कर सकते हैं शिलान्यास
जागेश्वर धाम में मास्टर प्लान का कार्य जल्द शुरू होगा, जिसकी तैयारी लगभग अंतिम चरण में है। सूत्रों के मुताबिक सीएम के ड्रीम प्रोजेक्ट में शामिल जागेश्वर मास्टर प्लान के कार्यों का शिलान्यास पीएम नरेंद्र मोदी कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें 👉  पति-पत्नी और बेटी घर में चला रहे थे देह व्यापार घर के अंदर संचालित

एएसआई के समक्ष जल्द प्रस्तुत होगा अंतिम प्रजेंटेशन
जागेश्वर धाम के मास्टर प्लान के पहले चरण के कार्यों का में भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (एएसआई) ने कुछ बदलाव की जरूरत बताई है। इसके निर्देश मिलते ही कंसल्टेंसी ने संशोधित ड्राफ्ट तैयार करने की कार्रवाई शुरू कर दी है। जल्द ही एएसआई के समक्ष अंतिम प्रेजेंटेशन प्रस्तुत होगा और इसके बाद मास्टर प्लान में तेजी आएगी।

मास्टर प्लान में इटली से लाइट मंगाने का प्रस्ताव शामिल है। प्लान के तहत ही हर कार्य होना है। इसके विकास के लिए जो दिशा-निर्देश मिलेंगे, इसके अनुरूप कार्य होगा।